नाम से वशीकरण मंत्र सिर्फ नाम से करो अपने प्यार का वशीकरण

नाम से वशीकरण मंत्र सिर्फ नाम से करो अपने प्यार का वशीकरण


आज इस समय की युवा पीढ़ी का मानना है कि नाम में क्या रखा है, लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे कि आपके नाम से आपके व्यक्तित्व पर अच्छा खासा प्रभाव पड़ता है. अगर हम अंक ज्योतिष के हिसाब से चलें तो जिस तरह भाग्यांक और मूलांक किसी भी एक व्यक्ति के जीवन पर काफी असर डालता है उसी प्रकार किसी भी व्यक्ति का नाम भी तंत्र विद्या और ज्योतिष विद्या में काफी अच्छा खासा असर डालता है.

नाम से वशीकरण मंत्र

तंत्र शास्त्र के अनुसार अगर सच्चे मन और श्रद्धा से किया जाए तो नाम से वशीकरण मंत्र करना अत्यंत सरल होता है। वशीकरण के कुछ ऐसे अत्यधिक शक्तिशाली मंत्र हैं जिनके साथ अगर व्यक्ति का नाम जोड़कर मंत्र जाप किया जाए और कुछ टोटके किए जाएं तो आम इंसान भी वशीकरण की क्रिया को आसानी से कर सकता है.

पर हर वशीकरण क्रिया पर जो नियम लागू होता है वह नियम इस वशीकरण पर भी लागू होता है कि आप अपने स्वार्थ के लिए अगर इस वशीकरण को करेंगे तो कभी सफल नहीं होगा अगर आपका मन सच्चा है और आप सही में मन से परेशान हैं तभी यह वशीकरण सफल होगा.

नाम से वशीकरण मंत्र की पहली विधि

नाम से वशीकरण मंत्र की ये अत्यंत सरल विधि है और हर कोई इसे कर सकता है. इसे करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जिस किसी भी महिला या पुरुष का वशीकरण करना चाह रहे हैं उसका पूरा नाम आपको पता होना चाहिए तभी यह वशीकरण मंत्र काम करेगा।

॥ ॐ ह्रीं कुरूम पिसचिनी (अमुक) मं वशियम भवन्ति ॥

इस वशीकरण क्रिया को किसी भी शुभ मंगलवार से शुरू करके लगातार 21 दिनों तक करना है। इसी वशीकरण को करने के लिए आपको किसी एकांत स्थान पर बैठकर सबसे पहले मन में उस व्यक्ति या महिला का विचार करें जिसका वशीकरण करना है, उसके बाद ऊपर दिए गए मंत्र का 51 बार जप करना है. मंत्र के बीच में जहां अमुक शब्द लिखा है वहां पर उस व्यक्ति या महिला का नाम ले। रोज जब आपका मंत्र जप खत्म हो जाए तो किसी भी गाय को एक रोटी या तीन केले खिलाए। जब आप का 21 दिनों तक का जप खत्म हो जाए तो किसी गरीब को एक समय का भोजन खिला दे। कुछ ही दिन में आपको इस वशीकरण के शुभ परिणाम दिखने शुरू हो जाएंगे.

नाम से वशीकरण मंत्र की दूसरी विधि

इस क्रिया को आप किसी भी दिन कर सकते हैं. इसे करने के लिए आपको तीन नींबू की जरूरत पड़ेगी। सबसे पहले किसी एकांत स्थान पर बैठ जाएं और उसके बाद उन तीनों नींबू के ऊपर उस व्यक्ति या महिला का नाम लाल रंग की स्याही से लिखें। इस बात का ध्यान रखें कि जिसका भी नाम लिख रहे हैं नाम पूरा लिखें। नाम लिखने के बाद तीनों नींबू के ऊपर एक एक लौंग गाड़ दे। उसके बाद नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जप करें और जब आपके 108 बार जप पूरे हो जाए तो फिर से 21 बार मंत्र पढ़ते हुए उन तीनों नींबू के ऊपर 21 बार फूंक मारे.

॥ ॐ (अमुक) मोहे मोहे वश्यं करू करू स्वाहाः ॥

अब शाम के समय बिना किसी से बात किए इन तीनों नींबू को ले जाकर एक नींबू को किसी चौराहे पर फेंक दें, दूसरे नींबू को किसी श्मशान के अंदर और तीसरे नींबू को किसी बहते पानी में प्रवाह करके बिना किसी से बात किए घर आ जाए।

10 से 15 दिन के भीतर सामने वाला व्यक्ति खुद आपसे संपर्क करने की कोशिश करेगा।

नाम से वशीकरण की तीसरी विधि

इस वशीकरण क्रिया को भी आप किसी भी दिन से शुरू कर सकते हैं. इसे करने के लिए आपको सबसे पहले 07 पान के पत्ते लेने होंगे और उन सातों पान के पत्तों पर लाल सिंदूर की मदद से उस व्यक्ति या महिला का नाम लिखें. नाम लिखने के बाद सातों पत्तों को अपने सामने रखकर नीचे दिए गए वशीकरण मंत्र का 551 बार जाप करें. मंत्र बहुत छोटा सा है इसलिए मंत्र जाप करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. मंत्र जाप होने के बाद इन सातों पत्तों को एक साथ काले रंग के धागे में बांधकर इसकी एक बंडल बना ले। अब इन सातों पत्तों को अपने घर के अंदर कहीं छुपा कर रखदे 7 दिनों के लिए।

॥ ॐ क्लिं कृष्णाय ॥

आठवें दिन इन पत्तों को किसी भी पीपल के पेड़ के पास एक छोटा सा गड्ढा खोदकर गाड़ दें और बिना पीछे मुड़े वापस आ जाए. आपकी वशीकरण क्रिया संपूर्ण हो जाएगी।

नाम से वशीकरण मंत्र की चौथी विधि
इस क्रिया को करने के लिए आपको उस व्यक्ति या महिला की फोटो की भी आवश्यकता पड़ेगी जिसका वशीकरण करना चाहते हैं। सबसे पहले उस फोटो के पीछे एक शुभ लाभ का आकार बनाएं और उसके बाद उस फोटो को सामने रखकर नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें. मंत्र के बीच में जहां अमुक शब्द लिखा है वहां पर उस व्यक्ति या महिला का नाम बोले। मंत्र जाप करने के बाद उस फोटो के ऊपर 21 बार फूंक मारे और फिर से 11 बार मंत्र जाप करके उस फोटो को अपने पास संभाल कर 21 दिनों तक रखें। 22वे दिन उस फोटो को जला दें और उसकी राख को किसी भी बहते पानी में प्रवाह कर दें।

॥ ह्रीं ह्रीं ह्रीं ठः (अमुक) स्वाहाः ॥

यह बहुत ही असरदार वशीकरण क्रिया है जो आज तक कभी असफल नहीं हुआ है। इसका परिणाम दिखने में कम से कम 20 दिन का समय लगता है इसलिए आपको संयम बनाए रखना है।

नाम से वशीकरण मंत्र की पांचवी विधि

यह वशीकरण क्रिया एक प्रकार से एक टोटका है इसे करने के लिए 5 मीटर का है चौकोर काला कपड़ा लीजिए और उस काले कपड़े के बीच में लाल शाही से उस व्यक्ति या महिला का नाम लिखिए जिससे आप अपने वश में करना चाहते हैं. उसके बाद इस कपड़े के ऊपर 3 किलो चावल 21 लॉन्ग, 21 इलायची, 11 बताशे और तीन नींबू रखकर इसके पोटली बना लें और अपने सर के ऊपर से 21 बार घुमा ले और अपने मन में उस व्यक्ति है महिला का ख्याल करें जिसे आप वापस पाना चाहते हैं. अब इस पोटली को किसी भी मंदिर के सामने जाकर किसी भी गरीब को या किसी भी जरूरतमंद को दे दें और बिना पीछे मुड़े या किसी से बात किये बगैर घर वापस आ जाये.

कब करें नाम से वशीकरण मंत्र का प्रयोग

वशीकरण का तो सरल भाषा में अर्थी होता है किसी को भी अपने अनुरूप काम करवाना. पर इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने स्वार्थ के लिए किसी का भी वशीकरण करें, वशीकरण विद्या का तभी प्रयोग करें जब आपके पास और कोई रास्ता नहीं हो. मंत्र का प्रयोग वह लोग कर सकते हैं जिनके प्यार के बीच में दरार आ गई है या उनका रिश्ता टूट गया हो या पति – पत्नी अपने रिश्ते को बचाने के लिए कर सकते हैं, माता पिता अपने बच्चों को सही रास्ते पर लाने के लिए या अपने रिश्तेदारों को वापस लाने के लिए उपयोग कर सकते हैं. नाम से वशीकरण मंत्र का उपयोग करते समय एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि जिस किसी का भी वशीकरण करना चाहते हैं उसका पूरा नाम आपको पता होना चाहिए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s