नीलम किसे पहनना चाहिए और किसे नहीं, जानिए

नीलम किसे पहनना चाहिए और किसे नहीं, जानिए


शनि ग्रह के बुरे प्रभाव और पीड़ा शांत करने के लिए नीलम (Neelam) या नीला पुखराज धारण करने की सलाह दी जाती है। नीलम को हीरे के बाद दूसरा सबसे सुंदर रत्न माना जाता है। इसे नीलमणि, सेफायर,इंद्र नीलमणि, याकूत, नीलम, कबूद भी कहा जाता है। कहा जाता है कि यह रत्न रंक को राजा और राजा को रंक बना सकता है।

नीला पुखराज के तथ्य (Facts of Neelam in Hindi)

  • नीला पुखराज के बारे में मान्यता है कि जब इस रत्न को दूध में डाला जाए तो दूध भी नीला रंग धारण कर लेता है।
  • कहा जाता है कि नीलम शुभ साबित हो तो मनुष्य के जीवन में खुशियों की बहार ला देता है। लेकिन अशुभ स्थिति में यह मनुष्य के लिए बहुत अहितकारी साबित होता है।

नीला पुखराज के लिए राशि (Blue Sapphire for Rashi)मकर तथा कुंभ राशि के जातकों के लिए नीलम या नीला पुखराज धारण लाभकारी साबित होता है। साथ ही जिन लोगों को शनि साड़ेसाती के प्रभावोंसे परेशानी हो रही हो उन्हें भी नीलम धारण करने की सलाह दी जाती है।

नीला पुखराज के फायदे (Benefits of Neelam)

  • नीला पुखराज धारण करने से मन अशांत नहीं होता है।
  • माना जाता है कि नीलम धारण करने से ज्ञान तथा धैर्य की वृद्धि होती है।
  • नीलम वाणी में मिठास, अनुशासन तथा विनम्रता पैदा करता है।
  • राजनेताओं और राजनीति से जुड़े लोगों के लिए नीलम लाभकारी माना जाता है। कहा जाता है कि इसे धारण करने से नेतृत्व क्षमता बढ़ती है।
  • माना जाता है कि जो जातक तनाव तथा चिंताओं से घिरे हों उन्हें नीला पुखराज अवश्य धारण करना चाहिए।

स्वास्थ्य में नीला पुखराज का लाभ (Health Benefits of Blue Sapphire)

  • ज्योतिषी मानते हैं कि लकवा, हड्डियों, दांतों और दमा की परेशानी से ग्रस्त रोगियों के लिए नीला पुखराज फायदेमंद हो सकता है।
  • कहा जाता है कि नीला पुखराज पहनने से चर्म रोग तथा प्लेग जैसे बिमारियों से निजात मिलती है। ज्योतिषी शनि से प्रभावित रोगों और परेशानियों में भी नीलम या नीला पुखराज धारण करने की सलाह देते हैं।

कैसे करें नीलम धारण (How to Wear Blue Sapphire)
नीलम शनिवार के दिन धारण करना शुभ माना जाता है। विधिवत रूप से पूजा पाठ करने के बाद ही नीलम धारण करना चाहिए। अगर पहले कुछ दिनों में इसका विपरीत प्रभाव लगे तो रत्न को उतार देनाचाहिए। नीलम के साथ कोई अन्य रत्न विशेषकर माणिक्य, मोती आदि नहीं पहनना चाहिए।

नीलम के उपरत्न (Substitutes of Blue Sapphire)
नीलम बेहद कीमती और कम पाया जाने वाला रत्न है। इसके उपलब्ध ना होने की दशा में एमेथिस्ट, ब्लैकस्टार, या ब्लू टोपाज धारण किया जा सकता है।

मेष राशि :– इस राशि के लोग शनि की दशा में नीलम रत्न धारण कर सकते है. इस राशि के लिए शनि लाभदायक हो सकता है. अपनी दशा में.. इसका रत्न धारण करने से लाभ में वृद्धि होगी. राज्य सेसम्बंधित लोगो से मेलजोल लाभकारी सिद्ध होगा. भवन तथा जमीन का लाभ देगा. वायु सम्बंधित रोगों से बचायेगा.टांगो को बल देगा.

वृष राशि :– इस राशि वालो को शनि रत्न नीलम शुभ फलदायक होगा.यह रत्न धारण करने से धन मान और भाग्य की वृद्धि होगी.छोटे भाई की आयु में वृद्धि करेगा. पिता की आयु और स्वास्थ्य में वृद्धिकरेगा. आपके स्नायुओं को मजबूत करेगा. राज्य से कृपा प्रदान होगी. उच्चाधिकारियों से लाभ प्रदान करवाएगा. इस राशि वाले इसे हीरा के साथ भी धारण कर सकते है अति लाभदायक सिद्ध होगा.

मिथुन राशि :– इस राशि के लोग भी नीलम रत्न धारण कर सकते है. वो भी शनि की दशा में.. धन और भाग्य में वृद्धि करेगा. तथा धर्म में रूचि उत्पन्न करेगा.

कर्क राशि :- इस राशि वालो के लिए शनि अशुभ ग्रह है. इसका रत्न कदापि धारण नहीं करना चाहिए. आयु को क्षीण करेगा. धन के क्षेत्र में कष्ट तथा हानि देगा. साझेदारी के कार्यों में दुखदायीहोगा.पति पत्नी में अलगाव पैदा करेगा. पति या पत्नी के लिए कष्टकारी भी सिद्ध होगा.

सिंह राशि :– इस राशि के लोगो को नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए. क्योंकि इस धारण करने से शत्रु सिर उठाएँगे. धन की कमी रहेगी. पति या पत्नी की आयु के लिए कष्टकारी होगा. पेट तथाअंतड़ियों से सम्बंधित रोग उत्पन्न होंगे.

कन्या राशि :– इस राशि वालो को नीलम रत्न धारण करने के लिए ज्योतिषी से परामर्श लेना अति आवश्यक है. यदि नीलम रत्न धारण करेंगे तो स्वास्थ्य की हानि करेगा. और बच्चो से वैमनस्यतारहेगी.शत्रु हावी होने लगते है. पेट से सम्बंधित रोग देगा.

तुला राशि :– इस राशि वालो के लिए शनि राजयोगकारक है. नीलम रत्न धारण करने से धन, पदवी,सुख सभी में वृद्धि करेगा. निम्न स्तर के लोगो से प्यार प्राप्त होगा. आयु तथा स्वास्थ्य में वृद्धिकरेगा. माता को धनादि की प्राप्ति होगी. और पिता का स्वास्थ्य व धन ठीक रखेगा.

वृश्चिक राशि :– इस राशि के लोग शनि की दशा में परामर्श के द्वारा नीलम रत्न धारण कर सकते है. परन्तु नीलम धन की विशेष वृद्धि नहीं करेगा. लेकिन भूमि में वृद्धि होगी. मित्रों से लाभ हो सकताहै. छोटी बहनों और भाइयों को सुख तथा धन प्राप्त हो सकता है.

धनु राशि :– इस राशि के लोगो को नीलम रत्न धारण करना शुभकर नहीं होगा. बहन-भाइयों की आयु को क्षीण करेगा. तथा शत्रु अधिक पैदा होंगे.

मकर राशि :– इस राशि के लोगो के लिए नीलम रत्न धारण करना अत्यंत शुभ होगा.इनके स्वास्थ्य, धन, आयु, विद्या में वृद्धि करेगा. वाणी में सुधार होगा. टांगो के रोगों का शमन होगा. वायु सेउत्पन्न रोगों को दूर परेगा.

कुम्भ राशि :– इस राशि के लोग नीलम धारण कर लाभ उठा सकते है. धन में वृद्धि करेगा. आंखों के दोषों का शमन करेगा. व्यय को कम करेगा. स्नायुओं को बल देगा. टांगो तथा पांवों को भी बल देगा.पुत्र की आयु में वृद्धि करेगा. पुत्र का भाग्य बढ़ाएगा.

मीन राशि :– इस राशि के लोगो को नीलम रत्न नहीं धारण करना चाहिए. आंखों के रोगों को बढ़ाएगा. धन लाभ में कठिनाइयां उत्पन्न करेगा. स्वास्थ्य में भी हानि करेगा.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s