पति पत्नी के रिश्ते को मजबूत करने के उपाय

पति पत्नी के रिश्ते को मजबूत करने के उपाय


पति पत्नी के रिश्ते को मजबूत करने के उपाय, पति-पत्नी के रिश्ते में रूठना-मनाना आम बात है। ऐसा उनके बीच रोजमर्रे की सामान्य शिकायतों के बढ़ने के कारण होता है। दांपत्य जीवन में इस स्थिति के बनने पर कई बार एक के रूठने पर दूसरा उसे मनाता है।

हालांकि कभी-कभी हालात नाजुक मोड़ पर आ जाते हैं। उनके बीच के वैचारिक मतभेद आए दिन लड़ाई-झगड़े में बदल जाते हैं और नौबत तालक या संबंध-विच्छेद तक आ जाती है। वे आपसी समझ से इस समस्या का हल नहीं निकाल पाते हैं

पति पत्नी के रिश्ते को मजबूत करने के उपाय

लेकिन ज्योतीषीय उपाय, वैदिक पूजा-पाठ, मंत्र-तंत्र की साधनाएं या फिर टोने-टोटके से इसका निदान किया जा सकता है। आपसी अनबन को दूर करने के कुछ प्रचलित उपाय इस तरह के हैं-

कपूर और सिंदूर का टोटकाः पति-पत्नी के बीच अनबन की स्थिति में बिगड़ते रिश्ते को कपूर की एक टिकिया और सिंदूर की पुड़िया से सुधारा जा सकता है। जब एक-दूसरे के बीच बोलचाल बंद हो जाए तब पति को चाहिए कि रात को सोने से पहले अपनी पत्नी के तकिए के नीचे कपूर की एक टिकिया चुपके से रख दे। इसी तरह से पत्नी को चाहिए कि वह अपने पति की नजर बचाकर उसके तकिए के नीचे सिंदूर की एक पुडिया रख दे। अगले दिन सुबह उठकर पति दैनिक पूजा के दरम्यान कपूर को जला डाले। जबकि पत्नी सिंदूर की पुडिया मां भगवती को अर्पित कर दे। दोनों ऐसा एक सप्ताह तक नियमित करना चाहिए। इससे उनके बीच रिश्ते की कड़वाहट दूर हो जाती है।
सिंदूर के साथ किए जाने वाले दूसरे टोटके में रात को सोने से पहले रविवार को अपने पति के तकिए के नीचे सिंदूर रख दें। सुबह सिंदूर का आधा भाग घर में गिरा दें बचा हुआ आधा सिंदूर अपनी मांग में भर लें। इसी तरह से रविवार की रात, पति के गद्दे के नीचे थोड़ा सा सिंदूर बिखेर दें और सुबह उसी सिंदूर से अपनी मांग भर लें। उस रात सहवास करने की कोशिश भी करें।
मौन ब्रतः पति-पत्नी के बीच बात-बात पर होने वाले रोज-रोज के झगड़ को दूर करने के लिए मौन व्रत धारण का उपाय किया जाना चाहिए। इसके लिए पति या पत्नी बुधवार का दिन चुनें और प्रातः स्नान आदि के बाद मंदिर जाएं। भगवान गणेश की पूजा करें। लड्डू का भेंट चढ़ाएं। देवी भगवती की आराधना करें और वैवाहिक जीवन के सुख वापसी की कामना करते हुए एक दिन का मौन व्रत लें। शाम को मौन व्रत तोड़ते हुए गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करें। प्रसाद के तौर पर पति या पत्नी एक-दूसरे को लड्डू भेंट करें।
मंत्र जापः इसे पति या पत्नी दोनों में से कोई भी कर सकते हैं। इसके जरिए एक तरह से अनबन की गलती को सुधारा जाता है। यदि पत्नी को लगे कि पति के कारण ही रिश्ते में कड़वाहट आ गई है तो वह एक छोटा-सा मंत्र जाप करें। शनिवार की रात दस बजे के बाद सोने से पहले एक सादे कागज पर लाल स्याही या सिंदूर से पति का नाम लिखंे। मंत्र ऊँ हनुमंते नमः का 121 बार जाप करें। कागज को मोड़कर घर के किसी कोने में रख दंे। अगले दिन सुबह उसे जला दें। ऐसा लगातार एक सप्ताह तक करने से आपसी कलह खत्म हो जाएगा। यही प्रयोग पति भी अपनी पत्नी के लिए किया जा सकता है।
देवी दुर्गा की पूजाः पति-पत्नी के बीच प्रेम बना रहे इसकी कामना देवी दुर्गा की नियमित पूजा से की जाती है। इसी तरह से उनके बीच अनबन को भी दिए गए मां दुर्गा वशीकरण मंत्र के 108 बार जाप कर दूर किया जा सकता है। इस जाप को मां दुर्गा की तस्वीर के सामने रखकर लगातार 9 दिनों तक रोज किया जाना चाहिए। इसका असर चार-पांच रोज में ही दिख जाता है।
मंत्र है- ज्ञानिनामपि चेतांसि, देवी भगवती ह्री सा। बलादाकृष्य मोहाय, महामाया प्रयच्श्ति।।
महामृत्युंजय मंत्रः पति-पत्नी के बीच वैचारिक मतभेदों के कारण झगड़ा काफी हद तक बढ़ जाने की स्थिति में शुक्रवार के दिन महामृत्युंजय जाप करना चाहिए। दोनों की सहमति से एक साथ किए जाने वाले जाप के बाद एक टोटका भी किया जाता है। इस उपाय के लिए एक मिट्टी के बर्तन में सवा किलो मशरूम भर लें। इसे अपने घर के पूजा-स्थल पर अपने सामने रखें। पति-पत्नी दोनों तीन-तीन माला महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें। इसके पश्चात् मशरूम के पात्र को मंदिर में जाकर मां भगवती को स्पर्श के बाद पिपल के पेड़ की जड के पास रख दें। इस उपाय से निश्चित तौर पर दांपत्य सुख में वृद्धि होगी।
शिव-पार्वती की पूजाः दांपत्य में खटास आने की स्थिति में शिव-पार्वती की आराधना अवश्य करनी चाहिए। हालांकि उनकी पूजा से समस्त पारिवारिक जीवन के सुख में वृद्धि होती है, क्योंकि भगवान शिव और माता पार्वती को एक सुखी दांपत्य का प्रतीक माना गया हैं।
रसीली मिठाईः शुक्रवार के दिन पति-पत्नी दोनों भगवान विष्णु और मां लक्ष्मीजी को सफेद रस वाली मिठाई का भोग लगाएं और प्रसाद के तौर पर ग्रहण करें।
घी का दीपकः इस प्रयोग को पति द्वारा उस स्थिति में किया जाना चाहिए जब नाराज पत्नी मुंह फुलाए बैठी हो। पति गुरुवार के दिन पीपल के पेड़ के पास घी का दीपक जलाएं। दूसरा दीपक आधी रात को चैराहे पर रख आएं। अगली सुबह पत्नी को मिठाई खाने के लिए दें।
शिव मंत्रः दांपत्य जीवन में आई दरार को भगवान शिव मंत्र जाप से बंद किया जा सकता है। भगवान शिव के दिए गए मंत्र से पति-पत्नी के बीची किसी खास मुद्दे को लेकर चला आ रहा वैचारिक मतभेद को खत्म किया जा सकता है। इस वजह से होने वाली लड़ाई को भी बंद किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले स्नान कर भगवान शिव के मंदिर जाएं और वहां शिवलिंग का जलाभिषेक करें। फिर निम्न मंत्र का 108 बार जाप करे।
मंत्र है- ऊं नमः समभवाय च मयो भवाय च नमः,

शंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च!!

अक्ष्यो नौ मधुसंकाशे अनीक नौ समंजन,

अंतः कृणुष्व मां ह्रदि मन इन्नो सहासति!!

सोने की चूड़ियांःः दांपत्य जीवन को सुखमय बनाने के लिए पति को नियमित तौर पर हर रात किशमिश वाले दूध का सेवन करना चाहिए और पत्नी को हमेशा सोने की चूड़ियां पहननी चाहिए।
नमक का पानी औरत अगर घर में प्रतिदिन नमक के पानी का पोंछा लगाए तब घर की नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं और पति-पत्नी के बीच का कलह भी शांत हो जाता है।
पानी और गुड़ः पानी गुड़ डालकर प्रतिदिन सूर्य देव को अर्पित करने दांपत्य जीवन में मिठास घुलती है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s