धन हानि रोकने के उपाय

धन हानि रोकने के उपाय


पति को अपनी तरफ आकर्षित करने के उपाय, बदलते सामाजिक परिवेश में दांपत्य जीवन, रहन-सहन और विचारों में खुलापन आने के कारण कई बार पति का पत्नी के प्रति आकर्षण कम हो जाता है। प्यार और रोमांस की तलाश में भटकता पति किसी दूसरी औरत के आकर्षण में बंध जाता है। जब तक इसका पता चलता है तबतक बहुत देर हो चुकी होती है।

यह स्थिति पत्नी के अंतरमन को काफी पीड़ा देती है। इसे उसके सुखद वैवाहिक जीवन में जहर घोलने के समान कहा जा सकता है। ऐसे में पत्नी को चाहिए कि वह पति को अपनी ओर आकर्षित करने का तरीका अपनाए, न कि पति के अकर्षण में बंधी औरत का विरोध जताए। यहां पति को अपनी ओर आकर्षित करने के कुछ टोटके और तंत्र-मंत्र के उपाए दिए जा रहे हैं, जो पति वशीकरण के लिए आजमाए हुए हैं।

अचूक वशीकरण मंत्रः यदि पति किसी गैर औरत के प्रेमजाल और रोमांस के मोहपाश में फंस जाए तो उसे पत्नी शाबर मंत्र का इस्तेमाल कर अपनी और आकर्षित कर सकती है। यह मंत्र विशेष तरह से ध्यानाकर्षण का है। इस उपाय को काफी धैर्य के साथ किया जाता है तथा इसमें पूर्व-फाल्गुनी के नक्षत्र में तोड़े गए अनार की लकड़ी को उपयोग में लाया जाता है। अनार की लकड़ी को धूपबत्ती दिखाने के बाद ओम नमः रुद्राय बरं बरं बरं वशम कुरु कुरु स्वाः मंत्र का 108 बार जाप किया जाता है। इसका असर सात दिनों में दिख जाता है।

गाय का घी और गोमूत्रः किसी भी पुरुष को वश में करने के लिए इन सामग्रियों से किया जाने वाला उपाय साधारण होकर भी बहुत ही अच्छा परिणाम देता है। गाय के घी और गोमुत्र में पिसी हुई सरसों और पान का रस मिला दिया जाता है। पत्नी अगर उस मिश्रण को अपने शरीर पर लगाए तब दूसरी औरत के चक्कर में पड़ चुके पति को अपनी ओर आकर्षित किया जा सकता है। इस दौरान पहले वाले मंत्र को ही 108 बार जाप किया जाना चाहिए।

नारियल से टोटकाः इस टोटके से वैसे तो किसी को भी वशीभूत किया जा सकता है, लेकिन पति को आकर्षित करने के लिए यह अचुक उपाय है। इसके लिए नारियल के बाहरी छिलके को सावधानी पूर्वक निकला देने के बाद एक छेद बना लें। उसमें से पानी निकलाकर घी से भर दें और छेद को गुंदे हुए आटे से बंद कर दें। उस घी से भरे नारियल को पका लें। ऐसा करने से आकर्षण शक्ति में अप्रत्याशित वृद्धि होती है और किसी को भी आकर्षण करने की क्षमता आ जाती है।

आकर्षण मंत्रः बहुत ही आसरकारी यह आकर्षण मंत्र ओम हुं ओम हुं ह्रीं मात्र पांच अक्षर का है, लेकिन यह पति को अकर्षित करने के लिए अचुक प्रभाव देता है। इसी तरह का दूसरा मंत्र ओम ह्रों ह्रीं हा्रां नमः भी है। इस मंत्र का प्रयोग किसी प्रिय व्यक्ति को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए किया जाता है। इसके लिए तांत्रिक विधि अपनाई जाती है और तंत्र-मंत्र विशेषज्ञ व्यक्ति के दिशा-निर्देश के अनुसार ध्यान के साथ 15 दिनों तक नियमित 108 बार जाप किया जाता है। यह मंत्र इतना प्रभावकारी है कि इसे यदि प्रतिदिन 10 हजार बार पंद्रह दिनांें तक किया जाए तब इसके प्रभाव से आकर्षण के परिणाम की गारंटी होती है।

शाबर मंत्र से कामदेव की उपासनाः आकर्षण के लिए बहुत ही उपयोगी शाबर मंत्र से कामदेव की उपासना की जाती है। यदि कोई पत्नी कामदेव को प्रसन्न कर देती है तो दूसरी औरत या प्रेमिका के कितने भी मजबूत प्रेमपाश में बंधा पति क्यों न होगा उसे अपनी ओर अकर्षित किया जा सकता है।

सौंदर्य और यौन ऊर्जा की असीम शक्ति वाले कामदेव की उपासना से शरीर में अद्भुत आकर्षण और यौन शक्ति आ जाती है। पति द्वारा पत्नी के स्थिति में देखने भर से वह उसकी ओर अकर्षित हुए बगैर नहीं रह सकता है। सोने से पहले 108 बार जाप किया जाते वाला शाबर वशीकरण मंत्र इस प्रकार हैः-

ओम नमो भगवते कामदेवय यस्य यस्य द्रश्यो भवामी,
यस्य यस्य मं मुखम पस्चति तं तं मोह्यातं स्वः!!

श्रीकृष्ण की आराधना और इलायचीः किसी भी शुक्रवार के दिन यह टोटका दिन में भगवान श्रीकृष्ण की पूजा और स्मरण के साथ शुरू किया जाता है। पति के सोने जाने से पहले तीन इलायची को आने शरीर से स्पर्श करवाकर पति के पास छिपाकर रख दिया जाता है। अगले रोज सुबह उठने पर तीनों इलायची को पीसकर चाय या काफी में मिलाकर पति को खिला देने से पति का आकर्षण बढ़ जाता है। इस उपाय को चार सप्ताह तक करने से पति पूरी तरह से पत्नी की ओर आकर्षित हो जाता है।

21 दिनों तक मंत्र जाप दूसरी औरत के चक्कर में पड़ चुके पति को अपने कब्जे में बनाए रखने के लिए वशीकरण मंत्र का लगातार 21 दिनों तक जाप करने से जबरदस्त सफलता मिलती है। नीचे दिए गए मंत्र को प्रतिदिन 1008 बार नहाकर जाप किया जाता है। मंत्र में हरीम शब्द के बाद पति का नाम लिया जाना चाहिए, लेकिन जाप मन में ही किया जाना चाहिए। मंत्र इस प्रकार हैः- ओम हरीम हरीम हरीम प्यार स्वाहा!

43 दिनों का चंडी स्त्रोतः पति वश में बना रहे या फिर दूसरी औरत के प्रेम जाल से बाहर निकल कर वापस अपनी पत्नी के प्रेम और रूपजाल मंे आकर्षित हो जाए। इसके लिए 43 दिनों तक किया जाने वाला चंडी स्त्रोत का विधि-विधान के साथ पाठ किया जाता है। इसके लिए किए जाने वाले अनुष्ठान को पति की तस्वीर के सामने प्रतिदिन एक पान का पत्ता रखकर किया जाता है।

इसका शुभारंभ शुक्ल पक्ष के दिन से किया जाता है तथा पान के पत्ते पर चंदन और केसर मिलाकर रखा जाता है। इस सामग्री को लाल कपड़े पर स्थापित देवी दुर्गा की प्रतिमा के सामने रखा जाता है। इस तरह से 43 दिनों तक विधि-विधान के साथ किया जाने वाला अनुष्ठान रूठे पति को मनाने के लिए काफी उपयुक्त है। इसके पूर्ण होते ही पति का पत्नी के प्रति वशीकरण होने से कोई भी रोक सकता है।

गूगल की धूनीः दूसरी औरत के वासनात्मक आकर्षण में बंधे पति को गूगल की धूनी से मुक्त किया जा सकता है। यह एक तरह से उनके बीच अबैध पे्रम के फंदे को खत्म कर उन्हें अनैतिक राह पर जाने से रोकना है। प्रत्येक रविवार को गूगल की धूनी सोने के कमरे में जलाएं। इसका पति के दिलो-दिमाग पर काफी गहरा असर पड़ता है और अपनी पत्नी के प्रति वापस आकर्षण में बंध जाता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s