मां सरस्वती के मंत्र

मां सरस्वती के मंत्र


देवी सरस्वती हिन्दू धर्म की देवी हैं। इन्हें साहित्य, कला और स्वर की देवी माना जाता है। हर वर्ष की माघ शुक्ल पंचमी अर्थात वसंत पंचमी को देवी सरस्वती की विशेष पूजा अर्चना की जाती है। स्वंय भगवान श्री कृष्ण ने सर्वप्रथम सरस्वती जी की पूजा की थी। इन्हें श्वेत रंग अतिप्रिय है। तो आइए पढ़ें ज्ञान की देवी सरस्वती जी के कुछ आसान मंत्र:

सरस्वती मंत्र (Saraswati Mantra in Hindi)
देवी सरस्वती का मूल मंत्र निम्न है: ॐ ऐं सरस्वत्यै ऐं नमः।
संपूर्ण सरस्वती मंत्र: ॐ ऐं ह्रीं क्लीं महासरस्वती देव्यै नमः।

परीक्षा भय निवारण हेतु (Saraswati Mantra for Exams in Hindi)
परीक्षा में डर ना लगें इसलिए इन मंत्रों का जाप करना लाभदायक माना जाता है

ॐ ऐं ह्रीं श्रीं वीणा पुस्तक धारिणीम् मम् भय निवारय निवारय अभयम् देहि देहि स्वाहा।

Om Ahem Hreem Shreem Veena Pustak Dharinim Mam Bhay Nivaranya Nivaranya abhyam dehi dehi swaha.

स्मरण शक्ति बढाने के लिए मंत्र (Saraswati Mantra for Memory Power in Hindi)
याद करने की क्षमता बढ़ाने के लिए इस मंत्र को फलदायक माना जाता है:

ऐं नमः भगवति वद वद वाग्देवि स्वाहा।

Om Namah Bhagwati Vad Vad Vagdevi Swaha

उच्च शिक्षा और बुद्धिमत्ता के लिए सरस्वती देवी के इन मंत्रों का जाप करना चाहिए:

शारदा शारदाभौम्वदना। वदनाम्बुजे।
सर्वदा सर्वदास्माकमं सन्निधिमं सन्निधिमं क्रिया तू।

Sarada Saradabhaumvadana Vadanambuje
Sarvada sarvadasmakamam sannidhimam sannidhimam kriya tu

श्रीं ह्रीं सरस्वत्यै स्वाहा।
ॐ ह्रीं ऐं ह्रीं सरस्वत्यै नमः।

Srim hrim sarasvatyai svaha.
Hrim aim hrim sarasvatyai namah

कला और साहित्य के क्षेत्र में सफलता के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए:

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमां आद्यां जगद्व्यापिनीं
वीणा पुस्तक धारिणीं अभयदां जाड्यान्धकारापाहां|
हस्ते स्फाटिक मालीकां विदधतीं पद्मासने संस्थितां
वन्दे तां परमेश्वरीं भगवतीं बुद्धि प्रदां शारदां||

Shuklaam Brahmavichaara Saara paramaam Aadhyaam Jagadvyapinim,
Veena Pustaka Dhaarineem Abhayadaam Jaadya’andhakaara’apahaam
Haste Sphaatika Maalikam Vidadhateem Padmasane Sansthitaam
Vande taam Parmeshwareem Bhagavateem Buddhipradaam Shardam

सरस्वती मंत्र (Powerful Saraswati Mantra in Hindi)
सभी बाधाओं के निवारण के लिए देवी सरस्वती के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

ऐं ह्रीं श्रीं अंतरिक्ष सरस्वती परम रक्षिणी
मम सर्व विघ्न बाधा निवारय निवारय स्वाहा।

Aim hrim Srim antariksa sarasvati parama rakshini
mama sarva vighna badha nivaraya nivaraya svaha

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s