गुमशुदा चीज मिलने का वजीफा

गुमशुदा चीज मिलने का वजीफा


हर किसी की कोई न कोई चीज़ कभी न कभी गुमसुदा हुई होगी, इनमे से कुछ कम कीमती होती है कुछ बहुत जयादा, आज हम आपको गुमशुदा चीज की वापसी के लिए दुआ और गुमशुदा चीज का पता लगाने का अमल बताने जा रहे है. इसको गुमशुदा चीज को ढूंढ़ने का इस्तिखारा भी कहते है.

Gumshuda Cheez Milne Ka Wazifa

आपका दिल डूब जाता है … आप अपने सामने और पीछे की जेब दोनों की जांच करते हैं और अपने फोन या वॉलेट की गांठ महसूस नहीं करते। ऐसी स्थिति में अब आपके पास चार विकल्प हैं, आप क्या करते हैं?

दहशत
रोना शुरू करो
क्रोध करें और अपने आप मान लें कि किसी ने इसे चुरा लिया है
एक गहरी साँस लें, अपनी भावनाओं को फिर से इकट्ठा करें और अपने कदम वापस करें। इसके बाद, आप एक ऐसी दुआ या वजीफा को याद करेंगे जिसके इस्त्माल से आप अपनी खोयी हुई चीज दुबारा पा सकते हैं|

गुमशुदा चीज मिलने का वजीफा

उत्तर डी है जैसा कि मुझे यकीन है कि आपने अनुमान लगाया है, लेकिन हम में से ज्यादातर प्राकृतिक प्रतिक्रियाओं में उनका उत्तर ए, बी और सी ही होता हैं।

आज हम इस लेख में ‘गुमशुदा चीज मिलने का वजीफा’के बारे में जानेंगे| उम्मीद हैं यह वजीफा आपके बहुत काम आएगा|

गुमशुदा चीज मिलने का वजीफा का उपयोग-

यदि आपकी कोई चीज गुम हो गयी हैं और लाख कोशिशों के बाद भी नहीं मिल पा रहीं, तो आप जुम्मे के दिन ईशा के नमाज के बाद आँगन में साफ चादर बिछा कर बैठ जाए|
अब गुम हुई चीज को याद कर के आंखे मूँद ले और इस वजीफा को 110 मर्तबा पढे-
“उलआअिका हुमुल मुअमीनोआ हक़ाका; लाहुम दरज़ातुन इंदा रब्बीम वा मघ फ़िरतुनव वा रिज़कुन करीम|”
इसे पढ़ने के बाद दारुदे-इब्राहिम को 3 दफा पढ़े| अब अल्लाह-ताला से गुमशुदा वस्तु के मिलने की दुआ करे|
इस वजीफा की प्रक्रिया पूरी कर के आप निश्चिंत से सो जाए| अल्लाह-ताला आपको ख्वाब में आपकी गुमशुदा हुई चीज का पता बता देंगे|

गुमशुदा चीज की वापसी के लिए दुआ

गुमशुदा चीज की वापसी के लिए दुआ – Gumshuda Cheez Ki Wapsi Ke Liye Dua, Wazifa, Amal, Upay, Tarika, Ubqari, Wapis, Istikhara, यदि आपकी कोई चीज गुम हो जाती हैं, तो आप बिल्कुल निराश हो जाते हैं कि अब आपको वो चीज मिलेगी ही नहीं| ऐसी सोच के पीछे हमारे दिमाग का हाथ होता हैं, जिसे बदतर स्थिति को संभालने के लिए, जैविक रूप से वायर्ड किया जाता है। यह हमारे द्वारा बनाए गए स्व-संरक्षण तंत्र है।

दुर्भाग्य से हमारा मन स्वाभाविक रूप से बदतर बात के लिए निराशा से भरी बातों का ही अनुमान लगता हैं और फिर दुखी हो जाता हैं|हम स्वाभाविक रूप से समझ सकते हैं कि हमारा मन कैसे स्थिति को मापने में मदद नहीं करता है| लेकिन फिर भी जब त्रासदी होती है तो हम हर बार उसी तरह से प्रतिक्रिया करते हैं।

यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा हो गया हैं, तो आप घबराए नहीं बल्कि नीचे दिये हुए दुआ को पढ़ कर अपनी चीज को दुबारा पा सकते हैं:-

Gumshuda Cheez Ki Wapsi Ke Liye Dua

यदि आपसे कोई चीज गुम हो गयी हैं, तो आप एक त्वरित राहत लेने के लिए एक आंतरिक आशावादी संवाद करते हैं क्योंकि यह निश्चित रूप से आपको समाधान खोजने की दिशा में करीब ले जाएगा। किसी भी चीज में अत्यधिक भावना के साथ काम करना अक्सर मामलों को बदतर बना देता है।
मन को शांत कर के आप पहले याद करने की कोशीश करे कि आपकी चीज कहा गुम हुई हैं| ऐसा करने से आपको शायद याद आ जाए| कई बार हम किसी जगह जाते हैं, और अपनी ख़ास चीजों को भी वही भूल कर वापस आ जाते हैं|
यदि आपको फिर भी याद न आए तो इस दुआ को आंखे बंद कर के पूरे एहतराम के साथ 22 मर्तबा पढ़े-
“बिस्मिल्लाह हीर रहमाने रहीम नूर बहीर नीर रहीम|”
यह दुआ इतना तिलस्मी हैं की इसे पढ़ते ही आपको याद आ जाएगा कि आपने वो वस्तु कहा छोड़ दी|
फर्ज कीजिये यदि कोई व्यक्ति ने उस वस्तु को अपने पास रख लिया होगा तो इस दुआ के असर से वो व्यक्ति खुद ब खुद उसे आपको लौटा देगा|

गुमशुदा चीज का पता लगाने का अमल

गुमशुदा चीज का पता लगाने का अमल – Gumshuda Cheez Ka Pata Lagane Ka Amal, Dua, Wazifa, Upay, Tarika, Ubqari, Wapis, Istikhara, यदि आपकी कोई चीज गुम हो गयी हैं, जो आपके लिए बहुत अजीज थी, तो आप उस चीज का पता लगाने के लिए अमल का प्रयोग कर सकते हैं|

इस्लाम में बहुत से ऐसे अमल का जिक्र हैं, जिसे आजमा कर गुमशुदा चीजों को पुन: प्राप्त किया जा सकता हैं| आइये हम इस अमल के बारे में जानते हैं|

Gumshuda Cheez Ka Pata Lagane Ka Amal

गुमशुदा चीज के बारे में पता लगाने के लिए आपको किसी सुनसान जगह पर बैठ कर इस अमल को करना होगा|सब से पहले कुराने-पाक को सामने रखे फिर इसका आयत संख्या 46 को पढ़े|
इस आयत में अल्लाह ने कहा है, “और धैर्य रखो। निश्चित रूप से, अल्लाह उन लोगों के साथ है जो पीड़ित हैं ”(सूरह अल-अनफाल – आयत 46)इसलिए फिर से शांत रहें।
एक गहरी सास लें। निष्कर्ष पर न जाएं।अब जब आप उस चरण को पूरा कर लेते हैं, तो यहाँ एक दुआ है जो आप अल्लाह से उस लापता वस्तु को खोजने में मदद करने के लिए कह सकते हैं-
“लिल्लाही वा इन्ना इल्याही रजीहहुतम|”
अनुवाद: हम वास्तव में अल्लाह के हैं, और हम वास्तव में उसी की ओर लौट रहे हैं और वहीं सभी दुखो को हरने वाला हैं, इसलिए उस पर विश्वास रखे|
आपने संभवतः पहले इस दुआ को सुना होगा लेकिन शायद एक अलग संदर्भ में। यह आमतौर पर मुसलमानों द्वारा सुनाया जाता है जब कोई व्यक्ति जीवन में किसी भी प्रकार के त्रासदी का अनुभव करता है|
यह अमल उन स्थितियों में भी लागू होता है जिनमें किसी भी प्रकार का जोखिम शामिल होता है। इस अमल के असर से तीन दिन के भीतर आपको आपकी खोयी हुई वस्तु का पता मिल जाएगा|

गुमशुदा चीज को ढूंढ़ने का इस्तिखारा

गुमशुदा चीज को ढूंढ़ने का इस्तिखारा – Gumshuda Cheez Ko Dhundne Ka Istikhara, Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Ubqari, Wapis के बारे में एक बात हमेशा कहीं जाती हैं कि “क्यायह हर बार काम करता है”| इसमें यही तर्क दिया जा सकता हैं कि यह हर बार काम नहीं करता है, लेकिन ऐसी किसी समय में अल्लाह को याद रखना महत्वपूर्ण है।

एक हदीस है जो कहती है कि अल्लाह “मेरे सेवक के विचार के निकट है क्योंकि वह मेरे बारे में सोचता है, और मुझे याद करते ही मैं उसके साथ हूँ। और अगर वह मुझे अपने दिल में याद करता है, तो मैं भी उसे अपने दिल में याद करता हूं ”(साहिह मुस्लिम # 2675)

यहां गुमशुदा चीज को ढूंढ़ने का इस्तिखारा है जो आप याद कर सकते हैं जो लापता वस्तु को खोजने में मदद कर सकती है- “अन्ता तहदी मिन अल-दौला वसीम”|यह इस्तिखारा गुम हुई चीज को ढूँढने के मामले में बहुत ही कारगर हैं| इसे आप किसी भी वक्त अपनी जरूरत के हिसाब से पढ़ सकते हैं|

इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि अल्लाह हमें वही देगा जो हम चाहते हैं। यह वह स्थिति है जहाँ हम गलत थे। दिन के अंत में केवल अल्लाह जानता है कि हमारे लिए सबसे अच्छा क्या है और हमें विश्वास करना होगा कि वह हमें सबसे अच्छा देगा।

Gumshuda Cheez Ko Dhundne Ka Istikhara

यह हमारे धैर्य का अभ्यास करने के लिए एक परीक्षा हो सकती है, यह देखने के लिए कि हम कैसे प्रतिक्रिया देते हैं। क्या हम अल्लाह पर भरोसा इसलिए खो देते हैं क्योंकि हमने कोई वस्तु खो दी थी जो उसने हमें दी थी?

कभी-कभी हम स्थिति के सही प्रभाव को भी नहीं समझ पाते हैं। यह इस भेष में अल्लाह द्वारा एक आशीर्वाद भी हो सकता है, शायद अल्लाह के लिए एक तरीका है जो हम नहीं जानते कि हमें बचाने के लिए हैं।

सबसे अच्छा तरीका है कि खुद से कहे-“मैं व्यक्तिगत रूप से नुकसान से निपटने में सक्षम हूं, इसके अलावा आप इन चीजों के लिए लेख में बताए हुए अमलों का इस्तमाल भी कर सकते हैं| ये अमल निश्चित तौर पर आपकी मदद करने में सक्षम हैं|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s